“अगर हम टैक्स के रूप में 100 रुपए इकट्ठा करते हैं और इसे भारत सरकार को देते हैं, तो हमें केवल 12-13 रुपए ही वापस मिल रहे हैं..।”

राजधानी दिल्ली के जंतर-मंतर पर केंद्र सरकार के खिलाफ कर्नाटक कांग्रेस सरकार विरोध प्रदर्शन कर रही है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस प्रदर्शन में कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया और डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार शामिल हुए।

एएनआई के अनुसार, इस प्रदर्शन के दौरान कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया ने कहा, “जहां तक टैक्स कलेक्शन की बात है तो कर्नाटक दूसरे नंबर पर है, महाराष्ट्र नंबर एक पर है। दरअसल इस साल कर्नाटक टैक्स के रूप में 4.30 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का योगदान दे रहा है…अगर हम टैक्स के रूप में 100 रुपए इकट्ठा करते हैं और इसे भारत सरकार को देते हैं, तो हमें केवल 12-13 रुपए ही वापस मिल रहे हैं..”

दिल्ली में कर्नाटक कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन पर कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया ने कहा, “हमें उम्मीद है कि सरकार हमारा विरोध सुनेगी और हमारा मुख्य उद्देश्य राज्य और कन्नड़ लोगों के हितों की रक्षा करना है…”

दिल्ली में कर्नाटक कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन पर कांग्रेस नेता प्रियांक खरगे ने कहा, “हमारे 4-5 मांगें हैं उसके खिलाफ ये प्रदर्शन है..केंद्र सरकार से हमारा निवेदन है कि हम जितना टैक्स देते हैं उतना हमें वापस दें तो हम भी देश के लिए ज्यादा योगदान दे सकते हैं।….”

दिल्ली के जंतर-मंतर पर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान कर्नाटक के डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार ने कहा, “कर्नाटक इस देश को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला दूसरा सबसे बड़ा राज्य है। हम अपना अधिकार मांग रहे हैं, हम अपना हिस्सा मांग रहे हैं… हम सभी यहां कर्नाटक के लोगों के लिए लड़ रहे हैं…”

विरोध प्रदर्शन के दौरान कर्नाटक के डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार ने कहा, “हम अपना अधिकार मांग रहे हैं, हमें जो भी प्रतिशत मिलना चाहिए उसका 13% हमें मिल रहा है। अगर अन्य राज्यों को लाभ मिलता है तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है। जो नीतियां, योजनाएं उन्होंने (केंद्र) गुजरात को दी हैं, वही उन्हें हमें भी देनी चाहिए…”

Source: News Click